मोटापा :- कारण एवं घरेलु उपचार

वर्तमान में मोटापा (obesity) एक बेहद गंभीर परेशानी के रूप में उभर के सामने आ गया है | इसकी सबसे बड़ी वजह हमारी गलत खान-पान की आदतें है | जिस प्रकार आजकल की पीड़ी में जंक फ़ूड अर्थात अस्वास्थ्यकर भोजन खाने का चलन तेजी से फ़ैल रहा है उसी तेजी से वजन बढ़ने की समस्या भी बढती जा रही है |

मोटापा होने के कारण :-

आइये जानते है की मोटापा होने के क्या कारण है |

कारण 1 :- गलत खान-पान

junk-foods1

वर्तमान समय में वजन बढ़ने का सबसे महतवपूर्ण कारण खान-पान की आदतों में बदलाव है | व्यक्ति जो भी कुछ खाता है, उसका सीधा असर उसके स्वास्थ्य पर पड़ता है | ज्यादा मसालेदार अथवा चटपटा खाने से या अधिक मात्रा में जंक फ़ूड खाना जैसे बर्गर, पिज़्ज़ा, कोल्ड ड्रिंक, चिप्स, इत्यादि खाने से मोटापा बढ़ता है |

कारण 2 :- शारीरिक सक्रियता में कमी

जिंदगी में बढ़ती हुई व्यस्तता भी वजन बढ़ने के मुख्य कारणों में से एक है | आजकल की इस व्यस्त ज़िन्दगी में लोगों के पास शारीरिक कार्य करने के लिए समय नहीं बच पाता | बच्चे भी बाहर खेलने की बजाय ज्यादातर समय टीवी देखने, कंप्यूटर, मोबाइल एवं विडियो गेम खेलने में पसंद करते हैं | इस वजह से उनका शारीरिक रूप से स्वास्थ्य बिगड़ना शुरू हो जाता है और परिणामस्वरूप लोग एवं बच्चे धीरे-धीरे मोटे हो जाते हैं |

कारण 3 :- दवाइयां

medicines

आजकल लोग जैसे ही हल्का सा अस्वस्थ महसूस करते हैं, वो एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करने लगते हैं | मोटापा बढ़ाने के लिए ये दवाएं भी कई हद तक उत्तरदायी होती हैं | अगर कोई गंभीर रोग किसी को होता है तो उसकी दवाइयां मोटापे को बढ़ावा दे सकती हैं |

मोटापे का इलाज:-

  1. 23 Ayurveda Tips For Healthy Weight Loss in English
  2. Best Home Remedies for Weight Loss (English)
  3. Wajan Kam Karne Ke Liye Peejiye Ye Khaas Juice

मोटापे को दूर अथवा कम करने के कुछ उपाय निचे दिए गए हैं | आपको इनको अपनाकर अगर कुछ फायदा होता है तो हमसे अपना तजुर्बा जरूर बांटे |

  1. दिन में एक बार गेंहू के दाने के बराबर की मात्रा में चूना खाने से मोटापे कम होता है |
  2. एक चम्मच त्रिफला चूर्ण को एक गिलास गरम पानी में उबाल लें | उसके बाद उसमे दो चम्मच गुड़ अथवा शहद मिलाकर काढ़ा बनाकर पीयें | इससे मोटापे कम होता है |
  3. 3 ग्राम गिलोय चूर्ण और 3 ग्राम त्रिफला चूर्ण को मिलाकर चाटें |
  4. दो बड़े चम्मच पुदीने के पत्ते एक ढेढ़ कप पानी में तब तक उबाले जब तक वो सुखकर एक कप न रह जाए | इस पुदीने की चाय को पीने से मोटापा कम होता है | इसमें स्वादानुसार शहद मिलाकर भी पी सकते हैं |
  5. दिन में कभी भी ना सोयें |
  6. भोजन को दिन में 3 बार से अधिक ना करें और जितनी भूख हो उससे थोडा कम ही खाएं |

Motapa (Obesity) : Kaaran Evm Gharelu Upchaar

Vartmaan mein motapa (obesity) ek behad gambheer pareshaani ke roop mein ubhar ke saamne aa gaya hai. Iski sabse badi vajah hamari galat khaan-paan ki aadtein hain. Jis prakaar aajkal ki peedhi mein junk food arthaat aswaasthykar bhojan khaane ka chalan teji se fail raha hai usi teji se vajan badhne ki samasya bhi badhti jaa rahi hai.

Motapa hone ke kaaran :-

Aaiye jaante hain ki motapa hone ke kya kaaran hai.

Kaaran 1 : Galat Khaan-Paan

Vartmaan samay mein vajan badhne ka sabse mehtvapurn kaaran khaan-paan ki aadton mein badlaav hai. Vyakti jo bhi kuchh khaata hai uska seedha asar uske swasth par padhta hai. Jyada masaledar athva chatpata khane se ya adhik matra mein junk food khana jaise burger, pizza, cold drink, chips ityadi khane se motapa badhta hai.

Kaaran 2 : Sharirik Sakriyata Mein Kami

Zindagi mein badhti hui vyastata bhi vajan badhne ke mukhya kaarno mein se ek hai. Aajkal ki is vyast zindagi mein logo ke paas sharirik kaarya karne ke liye samay nahi bach paata. Bachche bhi baahar khelne ki bajaay jyadatar samay TV dekhne, computer, mobile evm video game khelna pasand karte hain. Is vajah se unka sharirik roop se swaasthya bigadhna shuru ho jaat hai aur parinamswarup log evm bachche dheere-dheere mote ho jaate hain.

Kaaran 3 :- Dawaiya

Aajkal log jaise hi halka sa aswasth mehsoos karte hain, vo antibiotic dawao ka sewan karte lagte hain. Motapa badhane ke liye ye dabaye bhi kai hadd tak uttardayi hoti hai. Agar koi gambheer rog kisi ko hota hai to uski dawaiya motape ko badhava de sakti hain.

Motape Ka Ilaaj

Motape ko door athva kam karne ke kuchh upay neeche diye gaye hain.

  • Din mein ek baar genhu ke daane ke baraabar ki matra mein choona khaane se motapa kam hota hai.
  • Ek chammach trifla churn ko ek glass pani mein ubaal le. Uske baad usme do chammach gud athva shehad milaakar kaadha banaakar peeyein. Isse motapa kam hota hai.
  • 3 gram giloy churn aur 3 gram trifla churn ko milaakar chaate.
  • Do bade chammach pudine ke patte ek dedh cup pani mein tab tak ubaale jab tak wo sukhkar ek cup naa reh jaaye. Is pudune ki chai ko peene se motapa kam hota hai. Isme swadanusar shehad milakar bhi pee sakte hain.
  • Din mein kabhi bhi naa soye.
  • Bhojan ko din mein 3 baar se adhik naa kare aur jitni bhookh ho, usse thoda kam hi khaayein.

Save

Save

Save

Save

Save

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Enable Google Transliteration.(To type in English, press Ctrl+g)